Wednesday, September 29, 2010

और ज्यादा समय तुम्हारे पास


साँसें और ज्यादा तुम्हारे फेफड़ों में
रक्त से और लाल
धमनियां तुम्हारी

आग और पानी बराबर-बराबर
अकम्पित जीवन
और पाँव रखने से पहले
रौशनी गिरे
राह पर

मिटटी, बारिशें और खुश्बुएं
रहें सदा अंकुरित
तुम्हारे भीतर
और एक बड़ा कद

और ज्यादा समय हो
इस जन्म दिन के बाद
तुम्हारे पास.

20 comments:

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

खूबसूरत कामना ..

वन्दना said...

्खूबसूरत रचना……………ईश्वर आपकी कामना पूर्ण करे।

sada said...

बहुत ही सुन्‍दर शब्‍द एवं प्रस्‍तुति ।

shikha varshney said...

आमीन ...

Sonal Rastogi said...

amnen ,sundar rachna

M VERMA said...

और ज्यादा समय हो
इस जन्म दिन के बाद
तुम्हारे पास
बहुत सुन्दर, मेरी ओर से भी जन्म दिन की शुभकामनाएँ,
मेरे अनुमानानुसार यह आपकी बेटी है क्या?

सागर said...

समर्थन में उठे हाथ

निर्मला कपिला said...

बहुत खूबसूरत कामना की है। आपका हर सपना पूरा हो। शुभकामनायें आशीर्वाद।

प्रवीण पाण्डेय said...

जन्मदिन की ढेरों शुभकामनायें।

mukti said...

बहुत अच्छी पंक्तियाँ हैं. कोई ऐसे भी शुभकामनाएँ दे सकता है. सबसे अच्छी बात लगी आग और पानी बराबर-बराबर हों.

Udan Tashtari said...

आत्मिक शुभकामनाएँ...सुन्दर!

Parul said...

sacchi shubhkamnayen..!

kshama said...

Aameen! Aaapki kamana zaroor pooree hogi!

महफूज़ अली said...

आमीन ...ईश्वर आपकी कामना पूर्ण करे।

शरद कोकास said...

क्या बात है ओम ...
अभी अभी मेरा जन्मदिन भी शुरू हुआ है 30 सितम्बर
और मुझे लगा तुमने यह सब मेरे लिये ही लिखा है ।

संजय भास्कर said...

बहुत सुन्दर, मेरी ओर से भी जन्म दिन की शुभकामनाएँ

संध्या आर्य said...

तेरा हर एक कदम
मंजिल की तरफ हो
और मंजिल तेरी तरफ

तू मुस्कुराये तो
बिखरे खुशबू
महक जाये सारा चमन
तेरी एक मुस्कान से

तू है तो ये जहाँ
जन्नत !

अपूर्व said...

अकम्पित जीवन
और पाँव रखने से पहले
रौशनी गिरे
राह पर

जन्मदिन पर इससे खूबसूरत दुआएं भी क्या हो सकती हैं किसी के लिये..एक खूबसूरत कविता एक खूबसूरत व्यक्तित्व को गढ़ने मे मदद करे..इससे खूबसूरत बात भी क्या हो सकती है...
हमारी ओर से भी उसे जन्मदिन की शुभकामनाएँ

काजल कुमार Kajal Kumar said...

सुंदर लगा पढ़कर.

हिमांशु । Himanshu said...

बेहद खूबसूरत । शुभ कामना ।
आभार ।