Thursday, August 13, 2009

सिर्फ उस क्षण के लिए !

सिर्फ उस क्षण के लिए,
जब वो देखती हो मेरी आँखों में
उसे वहां प्यार दिखे

इतना सामर्थ्य दो मुझे बस,
बस इतना करो.

मैं चाहता हूँ
वो भी गुजरे उस स्थिति से,
जिससे मैं गुजरता हूँ
उसकी आँख में देख कर

38 comments:

sada said...

वो भी गुजरे उस स्थिति से, बहुत ही सुन्‍दर दिल को छूते शब्‍दों के साथ बेहतरीन प्रस्‍तुति, आभार्

विनोद कुमार पांडेय said...

pyar aur bhavnaon se bhare sandesh wahak geet me to aapka jawab nahi.
ek baar fir behtar..kavita..

badhayi..om ji

Sheena said...

वो भी गुजरे उस स्थिति से
======
shayad isi bahane wo hamara haal samajh paaye

-Sheena

Nirmla Kapila said...

दिल का दर्द कहने के लिये लाजवाब अभिव्यक्ति शुभकामनायें्

vandana said...

wow........kitne anokhe dhang se dard ki prastuti ki hai..........lajawaab.

AlbelaKhatri.com said...

manvaa me utar gayi rachnaa............
aanand se bhar gayi rachnaa.........

pukhraaj said...

आज शब्दों मे अलग खुमारी सी है ....लगता है शब्द नाराज़ हैं ...

रश्मि प्रभा... said...

bahut sundar

आदित्य आफ़ताब "इश्क़" said...

आपकी तड़प ओम जी ,आपके शब्दों में ,..............कुछ हो न हो आपके पास ज़िन्दगी रोज़ बतियाने ज़रूर आती होगी ..............ऐ ज़िन्दगी गले लगा ले ...............आपकी रचनाओं के लेबल आपके काव्यशास्त्र का प्रमाण हैं .........आपके मिज़ाज़ का हमें आहिस्ता से अहसास होता हैं ............

raj said...

aapke sunder ahsaso se bhari kavita hai....magar agar pyaar hai to dikhega jaroor,ankhein jhhuth nahi bol sakti,or aap jis dukh se gujar rahe hai kabhi nahi chahenge aapka pyar kisi bhi dukh se gujre..bhavuk ho ke aap kah to jayene,,par unki ankhon me aap nami kya dekh payenge??kahiya?

M VERMA said...

behatareen
lovely

विनय ‘नज़र’ said...

बहुत उत्तम

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

dil ki taaron ko jhankaar de di aapne om ji...
very nice...

mehek said...

मैं चाहता हूँ
वो भी गुजरे उस स्थिति से,जिससे मैं गुजरता हूँ उसकी आँख में देख कर
kitni gehri baat bas thodee alfaz mein bayan ki hai,sahi samnewale ko bhi kabhi wo ehsaas ho,sunder bhav badhai.

अर्शिया अली said...

Ati Sundar.
{ Treasurer-S, T }

दिगम्बर नासवा said...

UFF............KYAA BAAT LIKHI HAI OM JI....SACH HAI ,...KABHI UNKO BHI TO MERE DARD KA EHSAAS HONA CHAHIYE..... SHAAYED YE BHI PYAAR KA EK MUKAAM HAI......
KUCH HI LAINO MEIN AP HAMESHA BAHOOT GAHRI BAAT BOL DETE HAIN OM JI.....AAPKO PADHNA HAMESHAA SAKOON DETA HAI MAN KO....

शशि "सागर" said...

khoobsurat rachna

kshama said...

ऐसे में एक आह निकलती है ,
साथ दुआके ...

सागर said...

वाह बहुत खूब... बधाई स्वीकारें!

:) हा-हा-हा!!! चौंक गए! याद आया...

अब सिरिअस बात:

जो बात मुझे आपकी लेखन की सबसे अच्छी लगती है वो यह की इसमें एक सरस प्रवाह है... छोटी-छोटी घटनाएँ, और ऐसे एहसास जो अमूमन सभी को होते है बस वो ऐसे भी उसे बोलना नहीं चाहता... मेरे जैसा आलसी आदमी तो खास कर इतनी जेहमत नही उठाता. लेकिन आप ये लिंक दे देते है... बड़ी ही धरा प्रवाह से... शब्द भी आसन होते है... गर्मी में घडे की पानी की तरह एक बार में ही गले को तर करती नीचे उतरती है.... यह मैं सिर्फ इस कविता पर नहीं कह रहा आपकी लेखन के अब तक का सार कह रहा हूँ.... मुझे कुछ लाइंस याद रह गयी है आपकी... शुक्रिया

तो बहुत खूब! बधाई स्वीकारें....

ज्योति सिंह said...

rachana gahari aur sundar hai .

अर्शिया अली said...

जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई.
( Treasurer-S. T. )

harish said...

प्रेम रस मे भीगी कविता ....अहसास करती है किसी तड़प का , विछोह के डर का ...

Mithilesh dubey said...

वो भी गुजरे उस स्थिति से, बहुत ही सुन्‍दर दिल को छूते शब्‍दों के साथ बेहतरीन प्रस्‍तुति.........

मीनू खरे said...

क्या बात है भाई..

परमजीत बाली said...

एक अजीब सा एहसास ।बहुत सुन्दर रचना है।बधाई।

योगेश स्वप्न said...

gazab ki abhivyakti, om ji kamaal kar diya, gine chune shabdon men , wah.

चंदन कुमार झा said...

बहुत ही उम्दा अभिव्यक्ति. आभार.

महेन्द्र मिश्र said...

कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामना और ढेरो बधाई .

poemsnpuja said...

fursat se aayi, itmenan se kaafi kuch padha...ek sukoon aur khushbhu si bhar gayi...maun ke khali ghar me.
aap behad khoobsoorat likhte hain. seedha, saccha aur dil ko chhoota hua.

venus kesari said...

बेहतरीन प्रस्तुति

वीनस केसरी

Prem said...

choti,sehaj,aur sunder abhivyakti.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

बहुत बढ़िया.
श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ।

ktheLeo said...

ऒम जी,
सुन्दर भाव प्रस्तुत करती आपकी प्रभावशाली अभिव्यक्ति.

Babli said...

अत्यन्त सुंदर! श्री कृष्ण जनमाष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें!

G M Rajesh said...

kahte hain bure din dushman ko bhi naseeb na ho
aur aap hai ke .......

प्रवीण शुक्ल (प्रार्थी) said...

del ka dard vyakti karti sundar abhivyakti hai meri badhayi swikaar kare
saadar
praveen pathik

9971969084

महफूज़ अली said...

bahut sahi likha aapne...... usey bhi to aakhir pataa chale...... poore dard ko shabdon se hi kah diya aapne......

水煎包amber said...

cool!i love it!AV,無碼,a片免費看,自拍貼圖,伊莉,微風論壇,成人聊天室,成人電影,成人文學,成人貼圖區,成人網站,一葉情貼圖片區,色情漫畫,言情小說,情色論壇,臺灣情色網,色情影片,色情,成人影城,080視訊聊天室,a片,A漫,h漫,麗的色遊戲,同志色教館,AV女優,SEX,咆哮小老鼠,85cc免費影片,正妹牆,ut聊天室,豆豆聊天室,聊天室,情色小說,aio,成人,微風成人,做愛,成人貼圖,18成人,嘟嘟成人網,aio交友愛情館,情色文學,色情小說,色情網站,情色,A片下載,嘟嘟情人色網,成人影片,成人圖片,成人文章,成人小說,成人漫畫,視訊聊天室,性愛,情色,日本a片,美女,成人圖片區